ये धरती भी! Hindi Thought

ये धरती भी, आजकल लोगों के, “मन” की तरह हो गयी है, कब, कहां.. “डोल” जाये, कुछ पता ही नहीं चलता है।

दारू बाजों से अनुरोध है!!

दारू बाजों से अनुरोध है की वो ये न समझें… की अभी तक उनकी रात की उतरी नहीं है!! . . क्योकि…. . . ये झटके वास्तविक भूकंप के ही थे !! 😀

मैं ठहरी रही ज़मी हिलने लगी!!

मैं ठहरी रही ज़मी हिलने लगी सजना क्या ये मेरा पहला पहला प्यार है!! भाग साले भूकंप है ————– मोरल: सतर्क रहे, भूकम्प में सुरक्षित रहे!!

भूकम्प से घबराये नहीं!!

जरुरी सुचना : – भूकम्प से घबराये नहीं और भगदड़ न मचाएं अफवाओ से बचे और अफवाये फेलाये भी नही महत्वपूर्ण बात ये याद रखना कि… = = = = = पहले स्टेटस अपडेट करें फिर सुरक्षित स्थान ढूंढें…!!