इसकी कुछ मदद करो !!

एक लडके की अण्डों से भरी टोकरी साईकिल के पत्थर से टकराने से टूट गयी !
भीड़ इकठी हुई और सभी चिलाये : देख कर चलो भाई, कितनी गन्दगी कर दी ?
एक ताऊ ने भीड़ से कहा : इतना चिलाने से अच्छा है
यह सोचो इसका मालिक इसकी क्या हालात करेगा?
पगार में से पैसे काट लेगा! इसकी कुछ मदद करो !
लो मेरी तरफ से 10/रूपये !
सभी ने सहानभूति जताते हुए 10 -10 रूपये दिए!
लड़का खुश हो गया क्यूंकि मिली हुई रकम
अण्डों की कीमत से ज्यादा थी !
सभी के चले जाने के बाद एक व्यक्ति ने कहा :
बेटे ताऊ ना होते तो मालिक को तू क्या जवाब देता ?
लड़का : वो ताऊ ही मालिक है, और वो हरयाणवी है !