जय जय गर्लफ्रैंड देवी!!

दोहा०

जय जय गर्लफ्रैंड देवी
तुम हो बड़ी कमाल
पहले लाती हरियाली
फिर लाती भूचाल

चौपाई०

जय जय गर्लफ्रैंड महारानी
तुम्हारी महिमा सबने बखानी

तुम्हारो गुण लड़िकै सब गावैं
और बाद मा धोखा खावैं

जब से चक्कर मे पड़े तोहार
पढ़ाई लिखाई के बंटाधार

वेलेनटाईन डे जब आवै
गर्लफ्रैंड खूब मांग सुनावै

रोज उसकी नई नई डिमांड
हम किए न जाने कितने कांड

हर मांग पूरी किए तुम्हारी
गई थी हमार ऐसी मति मारी

तुम्हरे चक्कर मे बड़ी उधारी
बन बैठे सड़क के भिखारी

गजब का तुम करती हो बवाल
रीचार्ज करवाओ करो मिसकाल

हर जगह होते हैं चर्चे
तुम्हरे चक्कर मे बड़े हैं खर्चे

इश्क का ऐसा बुखार चढ़ा था
हमरे सिर पर खुमार चढ़ा था

कापी किताब हमे न दिखते
नोट्स छोड़ लवलेटर लिखते

फेल हुए तुम्हरे चक्कर मे
लात और जूते बरसे घर मे

पहली नजर मे हुआ था प्यार
आई वो जिन्दगी मे बनके बहार

दिल मे ख्याल उसी का आता
और दूजा काम न भाता

घूमते थे उसके दाएं बाएं
जीन्स बूट परफ्यूम लगाए

बड़ी मुश्किल से खोज किए थे
और फिर प्रपोज किए थे

कभी पसीने छूटे थे
कभी मन मे लड्डू फूटे थे

क्लियर पूरा कन्सेप्ट हुआ
हमारा प्रपोजल एक्सेप्ट हुआ

हमारे दिल की कली खिली थी
जैसे जन्नत यहीं मिली थी

सज गए दिल के बाग बगीचे
क्लास छोड़ हम तुम्हरे पीछे

मिसकाल जब भी तुम्हरो आवै
हमरे दिल की घंटी बजावै

पूनम का चांद लगती थी तुम
आनलाइन हमरे साथ जगती थी तुम

फेसबुक वाट्सप का लगा एक रोग
बनाने लगे हम मिलन संजोग

मुसीबत हमरे सर पर आए
जब बाइक पर उसको बैठाए

ससुरे फिर सब दिखाए उंगली
घर जाकर कर गए सब चुगली

बेचारे लड़िकै गर्लफ्रैंड बनाते
और ऊपर से पीटे जाते

पकड़ पकड़ सब इनको धोते
अस्पताल मे ये भर्ती होते

जितने का इनका ट्रीटमेन्ट चेकअप
उतने का तुमहार लिप्सटिक मेकअप

बात न सुनै ये हमरे मन की
आवै इनका खूब नौटंकी

गर्लफ्रैंड जब जब निकट आवै
लड़िकै कांप कांप भय खावैं

दुनिया भर के ढोंग रचावै
और बैठ के हुकुम चलावै

रखना पड़ता दिल है तुम्हारा
भरना पड़ता बिल है तुम्हारा

हो तुम बहुत बड़ी कलाकार
न करो इमोशनल अत्याचार

नाम तुम्हार हम जब भी जापैं
भूत प्रेत सब हमसे कांपैं

जब से प्यार मे धोखा खायौ
मन्दिर जाकर शीश झुकायौ

इश्वर सतबुद्धि तव दीन्हा
गर्लफ्रैंड से ब्रेकअप कर लीन्हा

हुआ अपने साथ ऐसा केस
तब से देते हम उपदेश

ऐसा गेम कभी न खेलौ
गर्लफ्रैंड बनाके मुसीबत न झेलौ

जो गर्लफ्रैंड चालीसा गावै
हर विपदा से वो बच जावै

दोहा०

तुम बन गई थी मालकिन
हम थे तुम्हरे दास
जब से ब्रेकअप हो गया
ले रहे चैन की सांस

अगर आपका entertainment हुआ हो तो आगे जरूर भेजें और सबका entertainment करें