Thoughts

आदमी को ” पत्थर ” की कीमत तब समझ में आती है!!

आदमी को ” पत्थर ” की कीमत तब समझ में आती है

जब,
रात को किसी सूनसान रास्ते पर पैदल अकेले गुजरते समय
अचानक,
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
चार, पाँच कुत्ते भौंकते हुए पीछे लगते हैं!!
और तब,
पत्थर मिलता नहीं तो,
हाँथ में पत्थर है की एक्टिंग करते हुए
कुत्तों को फेंककर मारने का इशारा कर बोलते हैं…
हट्ट…
हूस… हट्ट…..हट्ट…. 😝😜