नौजवान ने पूछा दस हज़ार कैसे ?

गुप्ता जी गुमसुम बैठे थे पूछा क्या हुआ तो बोले:
“Toilet” गए थे – late हो गए – शुरू की थोड़ी सी निकल गयी..😝


1974 में आयी थी फिल्म ” रोटी ”
.
1982 में आयी फिल्म “अंगूर
.
.
.
.
“फिर 1982 में “नमकीन”
.
.
.
2004 में “chocolate”
.
.
2009 में तैयार हुई “आलू चाट”
.
.
.
2012 में आयी “बर्फी ”
.
.
.
.
और
.
.
अब 2017 में “टाॅयलेट
..कित्ते साल लग गये…
…पेट साफ होने मे…🤣


हद तो तब हो गई जब 1 लड़का मैडम से
may i go to toilet बोलकर
मूवी देखने चला गया
🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣


एक 20-22 साल का नौजवान सुपर मार्केट में दाखिल हुआ , कुछ ख़रीदारी कर ही रहा था कि

उसे महसूस हुआ कि कोई औरत उसका पीछा कर रही है,
मगर उसने अपना शक समझते हुए नज़रअंदाज़ किया और ख़रीदारी में मसरूफ हो गया,

लेकिन वह औरत लगातार उसका पीछा कर रही थी, अबकी बार उस नौजवान से रहा न गया ,

वह अचानक उस औरत की तरफ मुड़ा और पूछा, माँ जी खैरियत है ?

औरत बोली
बेटा आपकी शक्ल मेरे मरहूम बेटे से बहुत ज्यादा मिलती जुलती है, मैं ना चाहते हुए भी आपको अपना बेटा समझते हुए आपके पीछे चल पड़ी,

और आप ने मुझे माँ जी कहा तो मेरे दिल के जज़्बात और खुशी बयां करने लायक नही, औरत ने यह कहा और उसकी आँखों से आँसू बहने शुरू हो गये।

नौजवान कहता है कोई बात नहीं माँ जी आप मुझे अपना बेटा ही समझें।

वह औरत बोली कि बेटा क्या आप मुझे एक बार फिर माँ जी कहोगे ?

नौजवान ने ऊँची आवाज़ से कहा, जी माँ जी,
पर उस औरत ने ऐसा बर्ताव किया जैसे उसने सुना ही ना हो, नौजवान ने फिर ऊंची आवाज़ में कहा जी माँ जी….

औरत ने सुना और नौजवान के दोनों हाथ पकड़ कर चूमे , अपने आंखों से लगाऐ और रोते हुए वहां से रुखसत हो गई।

नौजवान उस मंज़र को देख कर अपने आप पर काबू नहीं कर सका और

उसकी आंखों से आंसू बहने लगे, वह अपनी खरीदारी पूरी करे बगैर ही वापस चल दिया।

काउंटर पर पहुँचा तो कैशियर ने दस हज़ार का बिल थमा दिया….

नौजवान ने पूछा दस हज़ार कैसे ?.

कैशियर ने कहा

आठ सौ का बिल आपका है और

नौ हजार दो सौ का आपकी माँ के हैं,

जिन्हें आप अभी माँ जी माँ जी कह रहे थे।

वह दिन और आज का दिन,

नौजवान अपनी असली मां को भी मौसी कहता है।
😂 😂 😂 😂 😂